भू-संपदा ऑनलाइन लोक अदालत से सुनवाई, सहमति से हुआ प्रकरणों का निराकरण

भोपाल ।  मध्यप्रदेश भू-संपदा अपीलीय अधिकरण, भोपाल (रिएट) में 29 अगस्त शनिवार को वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से ऑनलाईन लोक अदालत आयोजित की गयी। लोक अदालत के लिये गठित खण्डपीठ के न्यायमूर्ति सुभाष काकड़े एवं सदस्य अधिवक्ता  हिमांशु राय एवं जितेन्द्र जादवानी के समक्ष कुल 8 प्रकरण प्रस्तुत किए गए। जिनमें से श्री कृष्णा बिल्डर्स एण्ड डेवलपर्स विरूद्ध डॉ. रविन्द्र चतुर्वेदी,  मैसर्स प्रशांत सागर बिल्डर्स एण्ड डेवलपर्स विरूद्ध सैयद सलीम हैयदी और एम.पी हाउसिंग विरूद्ध सिद्धार्थ अग्रवाल कुल 3 प्रकरणों का आपसी सहमति से निराकरण किया गया। 
 रजिस्ट्रार भू-संपदा अपीलीय अधिकरण ने जानकारी देते हुये बताया कि लोक अदालत में श्री कृष्णा बिल्डर्स एण्ड डेवलपर्स विरूद्ध डॉ. रविन्द्र चतुर्वेदी के अधिवक्ता दीपक पंजवानी द्वारा उनके जबलपुर स्थित कार्यालय से वीडियों काँफ्रेंसिंग पर की गई चर्चा उपरांत उनके द्वारा ई-मेल के माध्यम से अपनी सहमति भेजी गई। लोक अदालत में निराकृत किये गये प्रकरण काफी दिनों से न्यायिक प्रक्रिया के अंतर्गत प्रचलन में थे। जो आज लोक अदालत में आपसी सहमति से निराकृत किये गये। उक्त प्रकरण 67,24,436 रूपये की लेनदारी से संबंधित थे। उक्त प्रकरणों का आपसी निपटारा होने पर पक्षकारगण एवं उनके अभिभाषकगणों ने म.प्र. भू-संपदा अपीलीय अधिकरण (रिएट) की सराहनीय पहल पर आभार व्यक्त किया।


0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post