आज से निजीकरण के विरोध में रेलवे कर्मियों का भारत छोड़ो ठेकेदारी आंदोलन शुरू


भोपाल। केंद्र सरकार के द्वारा रेलवे निजीकरण की नीति के विरोध में वेसे रे म संघ के द्वारा आज भारत छोड़ो ठेकेदारी आंदोलन किया गया। यह आन्दोलन आज से 15 अगस्त शनिवार तक नियमित जाती रहेगा।रेलवे का निजीकरण केंद्र सरकार के लिए गले कि हड्डी बनता जा रहा । सबसे पहली निजी ट्रेन का संचालन उत्तरप्रदेश से शुरू की गई थी जिसका विरोध भी देश के अभी रेलवे कर्मचारी संगठनों के द्वारा किया गया था। उसके बाद यह मामला शांत पड़ गया। लेकिन हाल ही में एक बार फिर से बड़े स्तर पर निजीकरण की प्रक्रिया की जा रही है जिसका विरोध आज वेसेरे म संघ के द्वारा भोपाल में किया गया।वेसेरेम संघ के मंडल मीडिया प्रवक्ता रोमेश चौबे ने बताया कि वेस्ट सेंट्रल रेलवे मजदूर संघ के अध्यक्ष डॉ आर पी भटनागर के दिशानिर्देश पर और महामन्त्री अशोक शर्मा के मार्गदर्शन पर संघ के  भोपाल मंडल द्वारा 9 से 15 अगस्त तक सरकार की निगमीकरण और निजीकरण की बढ़ती नीतियों के विरोध में "भारत छोड़ो _ ठेकेदारी आंदोलन" की शुरुआत आज 9 अगस्त को व्यापक पैमाने पर हुई जिसमें मंडल अध्यक्ष राजेश पांडेय ,मंडल उपाध्यक्ष और लोको लाइन सचिव के एन गुप्ता ,मुख्य शाखा अध्यक्ष आलोक त्रिपाठी,मुख्य शाखा सचिव अंशु भटनागर , कमलेश परिहार जी, चक्रेश जैन,  रोमेश चौबे,सुरेश बैसारे, आलोक शर्मा, रवि चौबे, विवेक रावत, दीपू ठाकुर,अवनेश यदु,के के आर मूर्ति, शामिल हुए सभी ने कोविद 19 को देखते हुए सभी आवश्यक उपायों को सोशल डिस्टेन्सिंग का पालन करते हुए विरोध किया


0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post