आखिर चीन को पीछे हटना ही पड़ा, यह मोदी की बड़ी कामयाबी: शर्मा

भोपाल। आखिरकार गलवान घाटी से चीन को पीछे हटना ही पड़ा। यह स्पष्ट तौर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनकी रणनीति की बड़ी कामयाबी है। चीन के खिलाफ जहां हमारी सेना मोर्चे पर डटी हुई है, वहीं पूरा देश एक साथ खड़ा है। शासकीय अधिकारी कर्मचारी महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष रघुवीर प्रसाद शर्मा ने यहां जारी बयान में कहा कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हर मुद्दे पर, चाहे वह छोटा हो या बड़ा ईमानदारी से अध्ययन करते हुए सही निर्णय लेते हैं। प्रधानमंत्री द्वारा जिस प्रकार अचानक लद्दाख का दौरा किया एवं लद्दाख से लेकर वायु सेना समुद्र में पनडुब्बियों के साथ-साथ तटरक्षकों की तैनाती की गई। वायु सेना से लेकर लड़ाकू विमानों को खरीदे गए इन 6 वर्षों में भारत की सेना को इतना शक्तिशाली बना दिया है कि विश्व की कोई ताकत अब भारत को नहीं झुका सकती। हमारे देश के सैनिकों को सीमा पर जहां भी हैं उनके सुविधाओं पर भी ध्यान रख कर उनसे मिलने जाना उनका मनोबल बढ़ाना एक महत्वपूर्ण कदम है किसी भी देश पर आक्रमण करना हमारी परंपरा नहीं है पहले शांति अगर शांति समस्या का हल नहीं निकलेगा तो फिर जैसी जिसकी करनी उसके उसी तरह जवाब देने की कोशिश की जाती है जिन प्रधानमंत्री के नेतृत्व में देश की जनता एकजुट खड़ी है उन्हें कोई भी देश झुका नहीं सकता क्योंकि हमारे प्रधानमंत्री की नीति सोच राष्ट्र के प्रति बहुत ही अच्छी है। प्रधानमंत्री ने जिस तरह से कश्मीर समस्या को धारा 370 खत्म करके हल किया। कश्मीर को आजादी देते हुए नागरिकों ल के राज्य का दर्जा दिया और इसका विरोध करने वाले पाकिस्तान को भी समय-समय पर सबक सिखाया। इससे चीन में घबराहट पैदा हो गई। यही कारण है कि चीन ने गलवान में अतिक्रमण करने की कोशिश की। प्रधानमंत्री ने जिस तरह से मंत्रिमंडल समिति से लेकर प्रमुख जनरल एवं तीनों सेना प्रमुखों चर्चा की गई उसके बाद रक्षा सलाहकार अजीत डोबाल को जिम्मेदारी दी, यह कदम सफल रहे। और कल ही चीन ने पीछे हटने का निर्णय लिया। इसके लिए मध्यप्रदेश शासकीय अधिकारी कर्मचारी महासंघ ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एवं केंद्रीय मंत्रियों की समिति तथा देश के प्रमुख जनरल एवं सेना अध्यक्षों को तथा भारतीय सैनिकों को बधाई दी है।


0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post