नाले के ऊपर निर्मित अतिक्रमण बरसात से पहले हटाये: कियावत

शहर में कहीं भी जलभराव की स्थिति नहीं बने


 भोपाल । राजधानी में बरसात के पूर्व पानी के प्राकृतिक बहाव के नाले के ऊपर अतिक्रमण को हटाए जाने के आदेश संभागायुक्त कविंद्र कियावत ने नगर निगम अधिकारियों को दिये है।  आज संभागायुक्त के द्वारा राजधानी में प्राकृतिक नालों पर किये गए  अतिक्रमण को हटाने के आदेश किये गए हैं। बरसात में इन नालो पर अतिक्रमण बहाव में बाधा पहुंचते हैं जिससे शहर में जल भराव की स्थिति उत्पन्न होती है। इस  जल भराव की गंभीर स्थिति ना बनने देने के लिए आवश्यक पूर्व तैयारियों का जायजा लेने के क्रम में श्री कियावत चार इमली से  होशंगाबाद रोड के आस पास के क्षेत्रों में पहुंचे। उनके साथ आयुक्त नगर निगम विजय दत्ता भी थे। 


चार इमली वाला नाला


 पत्रकार कॉलोनी, पंचशील नगर और हर्षवर्धन नगर की समस्या बने नाले की बैकवाटर की स्थिति से निपटने के लिए श्री कियावत ने उसे संभावित स्थानों पर चौड़ा करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा जिन स्थानों में पोकलेन उतार सकते है वहा पोकलेन उतारे, संकरे क्षेत्रों में मजदूर लगाकर सफाई करवाए। 


आमवाली पुलिया होशंगाबाद रोड
 इस नाले में बारिश का पानी सीधे आएगा और इससे आसपास के क्षेत्रों में जलभराव की स्थिति बनेगी। इसे पोकलेन मशीन लगाकर साफ कराएं। इसके आसपास के क्षेत्रों में विगत वर्षों में जहां-जहां समस्या आती थी उन्हें ढूंढ ले और उसे दूर करें। 


राष्ट्रीय संस्कृत संस्थान बागसेवनिया नाला


सुरेन्द्र गार्डन और संस्कृत संस्थान इस नाले के बैकवाटर की समस्या से ग्रसित है। श्री कियावत ने संतोषपूर्वक सफाई कार्य ना होने पर नाराजगी जताई। उन्होने कहा सफाई कार्यों में नाले की सफाई के साथ आस पास उगी झाड़ियां भी साफ़ करे। नाले के आस पास के क्षेत्रों को गहरा कर पानी के बहाव के लिए जगह बनाए।


भाभा इंस्टिट्यूट नाला


 इस नाले से गोल्डन सिटी और बाबा इंस्टिट्यूट के परिसर में जलभराव की स्थिति निर्मित होती है। श्री कियावत ने नाले के बहाव के रास्ते में बने निर्माण को देखकर  निगम के अधिकारियों से पूछा नाले के ऊपर बने अतिक्रमण को अभी तक क्यों नहीं तोड़ा गया। नाली के प्राकृतिक बहाव रोकने वाले सभी निर्माण कार्यों पर तत्काल रूप से कार्रवाई करें । 


रूचि लाइफ कॉलोनी नाला, रातीबड़


 होशंगाबाद रोड के क्षेत्रों से पानी लाता यह नाला बरसात के दिनों में इस कॉलोनी और आसपास के क्षेत्रों में जलभराव की स्थिति निर्मित करता है। श्री कियावत ने नगर निगम के अधिकारियों को जल्द से जल्द पोकलेन मशीन और मजदूरों के द्वारा इस नाले को जल्द से जल्द साफ करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा यह योजना बनाने का समय नहीं है, यह वक़्त है मैदान में जुट जाने का।


                 संभागायुक्त श्री कियावत ने नगर निगम के अधिकारियों से कहा बारिश के जलभराव से सबसे अधिक परेशान गरीब तबके के लोग होते है। उनकी गृहस्थी बह जाती है। उनकी समस्या हमारी प्राथमिकता होनी चाहिए। आप अपने कार्यों के साथ साथ इस कार्य को जिम्मेदारी और समर्पण से करे। यह एक कार्य के साथ साथ हमारा नैतिक दायित्व भी है। कर्मचारियों को सुबह-सुबह संक्षिप्त रूप से उनके दिन भर के कार्य को समझाएं और दिन में समय अंतराल पर प्रगति की रिपोर्ट लें। इस कार्य को टीम भावना के साथ समय सीमा में पूर्ण करें।


0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post