कृषि और उससे जुड़े विभागों की बैठक आयोजित

संभागायुक्त ने लक्ष्ययाआधारित कृषि उत्पादन वृद्धि के दिए निर्देश


भोपाल। किसानों को गुणवत्तापूर्ण बीज खाद और कीटनाशक उपलब्ध कराना हमारी प्राथमिकता है। कृषक हित में लक्ष्य आधारित योजना बनाए और मैदानी स्तर पर कार्यों का पर्यवेक्षण करे। उक्त निर्देश संभागायुक्त श्री कविंद्र कियावत ने बैठक के दौरान सभी संबंधित संभागीय स्तर के अधिकारियों को दिए। संभागीय कार्यालय के सभाकक्ष में आज आयोजित बैठक में पशुपालन और डेयरी, मछुआ कल्याण एवं मत्स्य विभाग , उद्यानिकी , सहकारिता और कृषि एवं संबद्ध संस्थाएं के अधिकारियों को जिलों में कृषि उत्पादन बढ़ाने और कृषक कल्याण से संबंधित महत्वपूर्ण निर्देश दिए।


कृषि एवं संबद्ध संस्थाएं


किसानों को गुणवत्तापूर्ण बीज, खाद और कीटनाशक उपलब्ध कराए सभी अधिकारी जिलों में सतत भ्रमण करें। खाद ,बीज और कीटनाशक की नियमित जांच करें।


अमानक बीजों पर रोक लगाएं।


किसानों को गुणवत्तापूर्ण बीज खाद और कीटनाशक उपलब्ध कराना हमारी प्राथमिकता है। कस्टम हायरिंग सेंटर पर उपकरणों का उपयोग ज्यादा से ज्यादा हो इसके लिए कृषकों को जागरूक करें। स्पायराल ग्रेडर का उपयोग कर अच्छे बीज किसानों को उपलब्ध कराए और उत्पादन बढ़ाए। धान फसल के लिए पेडी ट्रांसप्लांटर का डेमो किसानों को दें इससे किसानों को ही लाभ है। निजी कृषक चाहे तो इसे खरीद सकते हैं।


पशुपालन और डेयरी


5 लाख लीटर दुग्ध संग्रहण का लक्ष्य लेकर कार्य करे* भोपाल दुग्ध संघ वर्तमान में 3 लाख 8 हज़ार दुग्ध संग्रहित कर रहा है। 5 लाख लीटर दुग्ध संग्रहण का लक्ष्य लेकर कार्य करें और निश्चित समय-सीमा में प्राप्त करे। सोसायटी के सक्रिय सदस्यों को प्रोत्साहित करें और टीकाकरण आदि के माध्यम से स्वस्थ पशुओं की दुग्ध उत्पादन क्षमता बढ़ाएं। प्रत्येक जिले, केंद्र, पशुपालक के लिए लक्ष्य निर्मित करें और उसका हर हफ्ते पर्यवेक्षण करे। सभी पशुपालकों को का 100 परसेंट केसीसी बनाने का लक्ष्य रखें। पशु बीमा योजना का कवरेज़ बढ़ाएं। पशु कल्याण समिति की राशि के माध्यम से पशुओं के आहार के लिए वर्तमान समय में भूसा खरीदें । जिलों में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत से संपर्क कर एनआरएलएम समूहों को स्व- सहायता समूह से जोड़े।


सभी गौशालाओं में विद्युत कनेक्शन लगवाना सुनिश्चित करें


जिन गौशालाओं में अतिरिक्त को पशुओं के लिए चारागाह उपलब्ध नहीं है उनके लिए मनरेगा के तहत चारागाह स्वीकृत कराए। भविष्य में पर्यावरण अनुकूलता की दृष्टि से कास्ठ निर्माण में तेजी लाएं। सभी किसानों को कम्पोस्ट से बनी हुई खाद लेने और उपयोग करने के लिए प्रेरित करे।


उद्यानिकी मसाले और औषधीय फसलों का रकबा बढ़ाए


राजगढ़ और सीहोर जिले में फसल चक्र के माध्यम से मसाले और औषधि फसलों का क्षेत्र विस्तार करें। उद्यानिकी फसलों के रकबे को राजस्व रिकॉर्ड में अभियान चलाकर दर्ज करवाएं । नर्सरी को आत्मनिर्भर और सक्षम बनाएं इसमें सभी प्रजातियों के पौधों की उपलब्धता सुनिश्चित करें। प्याज संग्रहण के भंडार के लिए मनरेगा में योजना का लाभ लेने के लिए किसानों को प्रोत्साहित करे इससे आने वाले समय में प्याज की किल्लत नहीं होगी।


सहकारिता


प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के सभी लाभार्थियों को 30 जून तक केसीसी का लाभ दें। जिलेवार, बैंक वार और ब्रांच बार अपनी वसूली की समीक्षा करें। सामान्य वसूली और डिफाल्टर की राशि वसूली पर अधिक ध्यान दें। संभाग में सभी किसानों को खाद की उपलब्धता सुनिश्चित हो इसका विशेष ध्यान रखें । स्वयं हर जिले में जाएं और निरीक्षण करें । गड़बड़ी करने वालों के विरुद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही करना सुनिश्चित करें। *मछुआ पालन एवम् मत्स्य विभाग* वॉटर बॉडी के जीपीएस लोकेशन को फिजिकल वेरीफाई कर वहां मत्स्य पालन की गतिविधियां संचालित करें। मनरेगा के तहत बने नए तालाबों को सूचीबद्ध करें और उसे पट्टे पर दे। खनिज विभाग से संपर्क कर खनन के बाद खाली छोड़े गए गड्ढों का उपयोग मत्स्य पालन में करें । किसानों को मत्स्य पालन के लिए जागरूक करें उन्हें प्रोत्साहित करें और उत्पादन उपरांत मत्स्य विक्रय की व्यवस्था सुनिश्चित करें। मछुआ किसानों का शत-प्रतिशत किसान क्रेडिट कार्ड बनवाना सुनिश्चित करें।* प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर योजना के अनुसार अपने लक्ष्य को निर्धारित करें और नियत समय अवधि में उसे प्राप्त करने का भरसक प्रयास करें। कमिश्नर श्री कियावत ने कहा यही समय है कि हम फील्ड में जाए और अपने निर्धारित लक्ष्यों की प्राप्ति करें । आप सभी अपने कार्य के दौरान पूर्ण सावधानी बरतें। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें मास्क लगाए रखें। जनहित की जिम्मेदारियों को हमें गंभीरता से निभाना है इसके साथ ही हमें अपनी सुरक्षा का ध्यान भी रखना है। बैठक में उपायुक्त (विकास) अनिल कुमार द्विवेदी ,उपायुक्त संजू कुमारी, उपसंचालक कृषि श्री बिलैया, मुख्य कार्यपालन अधिकारी, भोपाल दुग्ध संघ के.के. सक्सेना सहित संबंधित विभागों के अधिकारीगण उपस्थित थे।


0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post