कलयुग में मानव सेवा और भूखों की भूख मिटाना ही सबसे बड़ी नारायण सेवा: हरदीप सिंह

गुरूद्वारा लंगर लॉक डाउन के प्रथम दिन से निरंतर वितरित हो रहा भोजन भोपाल। साकेत नगर स्थित गुरु तेग बहादुर साहब गुरुद्वारे में लॉक डाउन के प्रथम दिन से कोरोना महामारी में लगभग 65 दिनों से निरंतर जरूरतमंद, निर्धन, असहाय लोगों में सुबह शाम भोजन का वितरण किया जा रहा है। गुरुद्वारा कमेटी के अध्यक्ष हरदीप सिंह सैनी ने बताया कि गुरुद्वारा कमेटी द्वारा 22 मार्च लॉक डाउन के प्रथम दिन से गरीब, असहाय लोगों के लिए भोजन वितरण का कार्य निरंतर जारी है। श्री सेनी ने बताया कि गुरुद्वारा कमेटी के लगभग 60 से 70 सेवादारों द्वारा शासन के सभी निर्देशों और सोशल डिस्टैंसिंग का पालन करते हुए प्रतिदिन गुरुद्वारे की रसोई चलाई जा रही। गुरुद्वारा में सेवाभाव से सुबह शाम की 2 शिफ्टों में निरंतर भोजन निर्माण और वितरण का कार्य सेवादारों द्वारा किया जा रहा है । गुरुद्वारा कमेटी के द्वारा चलाई जा रही इस रसोई में प्रतिदिन कई तरह के सामाजिक संगठनों और सिक्ख समाज के समाज सेवियों का सहयोग भी गुरुद्वारा कमेटी को प्राप्त हो रहा है। जिससे कि निरंतर गुरुद्वारे की रसोई चलाई जा रही है और जरूरतमंदों को भोजन वितरित हो पा रहा है। उन्होंने कहा कि इस विकट कोरोना महामारी के समय और कलयुग में मानव सेवा और भूखों की भूख मिटाना ही सबसे बड़ी नारायण सेवा है। उन्होंने बताया कि जब तक लॉक डाउन रहेगा तब तक गुरुद्वारा कमेटी निरंतर जरूरतमंद और असहाय लोगों के लिए अपना यह लंगर और भोजन वितरण का काम निरंतर करती रहेगी।


0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post