निजी स्कूलों की फीस माफ हो, वृद्धि पर लगे रोक

भोपाल। प्रदेश में निजी स्कूलों के लिए मध्यप्रदेश फीस नियामक कमेटी 2018 के नियम को लागू कर फीस वृद्धि पर रोक व एनसीआरटी के पाठयक्रम को लागू कर आम आदमी को राहत दी जाए। प्रदेश में कोरोना वायरस के लोकडॉउन के चलते आम आदमी आर्थिक तंगी से गुजर रहा है।  वर्तमान में सभी वर्ग के लोगों का काम-कारोबार बंद है। जिससे आम आदमी अपनी रोजमर्रा की जरूरतों को पूरा करने में असमर्थ हैं। वहीं कफर््यू एवं लॉक डाउन कब खुलेगा यह निश्चित नही हंै। बाज़ार खुलते ही तुरंत लोगों की आर्थिक परेशानियां समाप्त नहीं हो पाएंगी। इस स्थिति को ठीक होने में एक वर्ष से अधिक समय लग सकता है ऐसी स्थितियों में जब स्कूल खुलेंगे तो पालकों को बहुत सारे खर्च एक साथ करने होंगे। जो संभव नहीं है। पालक महासंघ क ेद्वारा सरकार से निजी स्कूलों की फीस वृद्धि पर तत्काल रोक लगाई जाए। निजी एवं शासकीय विद्यालयों में भारत सरकार, राज्य सरकार किताबें बहुत सस्ती दरों पर उपलब्ध है और इससे स्कूल बैग का वजन कम करने में भी मदद मिलेगी। मध्यप्रदेश फीस नियामक कमेटी 2018 के नियम शीघ्र जारी कर पूरे राज्य में लागू किया जाए। जिससे कोई भी स्कूल अपनी स्वेक्छा से बिना सरकार की अनुमति और पालकों के प्रतिनिधियों से चर्चा के फीस में कोई वृद्धि न हो सके। 


0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post