बिना रुके जारी है विधायक परमार का परमार्थ

भोपाल। कोरोना संक्रमण के चलते लॉक डाउन के दौरान उज्जैन जिले के तराना विधायक के द्वारा प्रतिदिन राहत सामग्री पहूंचाने का कार्य किया जा रहा है। जिससे उनका अपनी जनता के प्रति एक समाजिक व्यक्ति के रूप में हो रही है वहीं गरीब व असहाय को दो वक्त का भोजन भी मिल रहा है।  कोरोना संक्रमण की वजह से आम जनजीवन प्रभावित हो रहा है। ऐसे में लोगों के सामने उनके जीविकोपार्जन की समस्या उत्पन्न हो रही है, ऐसे में आमजन प्रशासन के साथ-साथ जनप्रतिनिधियों के सहारे है। इस मामले में उज्जैन जिले के तराना विधायक महेश परमार क्षेत्र ही नहीं बल्कि जिले के जरुरतमंदों को नियमित तौर पर राहत पहुंचाने में लगे हुए हैं। वे पिछले 12 दिनों से नियमित रुप से पांच हजार से जरुरतमंद लोगों को खाद्यान्न सामग्री पहुंचा कर परमार्थ कर रहे हैं।

उल्लेखनीय है कि प्रदेश में कोरोना संक्रमित जिले में उज्जैन भी शामिल है, जिससे यहां भी प्रशासन पूरी तरह से लॉकडाउन किए हुए है। मुख्यालय सहित पूरे जिले में ऐसे कई क्षेत्र है, जहां लोगों को अपने परिवार की जीविका चलाने में असुविधा हो रही है। ऐसी स्थिति में तराना विधायक महेश परमार मददगार के रुप में सामने आएं है। बताया गया है कि परमार अपने विधानसभा क्षेत्र तराना के जरुरतमंद लोगों को राहत सामग्री तो पहुंचा ही रहे हैं, वे जिले के उन क्षेत्र में भी खाद्यान्न की पूर्ति करा रहे हैं, जहां के लोग परेशान हैं और उनके पास इसकी सूचना पहुंच रही है। परमार पिछले 12 दिनों से व्यापक स्तर पर लगातार जरूरतमंद लोगों को राशन सामग्री वितरित कर रहे हैं।

सुंदरकाण्ड का पाठ कर किया वितरण

पूर्व मुख्यमंत्री एवं प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष कमलनाथ ने पार्टी के सभी विधायकों एवं पदाधिकारियों से आह्वान किया था कि वे हनुमान जयंती पर प्रदेश और देश को कोरोना संक्रमण से मुक्ति दिलाने के लिए हनुमान चालीसा और सुंदरकाण्ड का पाठ करें। विधायक परमार ने पूर्व सीएम की मंशानुरुप बुधवार को हनुमान जयंती पर हनुमान चालीसा व सुंदरकांड का पाठ किया। इस मौके पर उन्होंने सोशल डिस्टेसिंग का भी ध्यान रखा। इसके उपरांत उनके द्वारा लोगों को राशन सामग्री का वितरण शुरु किया गया। इस कार्य में विधायक परमार के समर्थक अजीत सिंह, महेश पटेल, संजय यादव, हरीश डोडिय़ा, रुपा सेठ, भेरु सिंह सहित अन्य लोगों का सहयोग मिल रहा है, जिससे इन विषम परिस्थितियों में परेशान लोगों के घरों का चुल्हा जल पा रहा है और लोग अपने परिवार को खाना खिला पा रहे हैं।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post