लॉक डाउन से ही कोरोना वायरस का होगा अंत

भोपाल। कोरोना  वायरस ने आज पूरे विश्व  में महामारी  का रूप धारण कर लिया है । जिस तरह से या अपने पांव फैलाते जा रही उससे लगता है कि यह करोड़ों  लोगों को मौत के आगोश में समा लेगी। इसका ताजा उदाहरण चीन का देखने को मिला है  अगर इस पर जल्द ही काबू नहीं किया गया तो हमारे हालात भी  चीन अमेरिका, इटली ईरान जसए हो सकते हैं ।  जहां पर  हजारों की संख्या में पीड़ित हैं । आज हमारे प्रधानमंत्री ने पूरे देश से अपील की है कि 31 मार्च तक लॉक डाउन में सहईग करें । यही एक सबसे बड़ा इलाज है। कि लोगों का कुछ दिन के लिए एक दूसरे से दूरी बनाए रखना। प्रदेश सरकार ने लॉक डाउन के आदेश तो कर दिए हैं पर जनता सहयोग नहीं कर रही है। जो कि अपने आप एक समस्या है। जनता को खुद समझना हीग की दूसरे देशों में किस तरहः से नुयंत्रण मेम किया जा रहा है। अगर जनता सहयोग नहीं करेगी तो फिर  सरकार को मजबूरी में आर्मी लगाकर कर्फ्यू लगाना पड़ेगा। इस बीमारी ने किस तरह अपने पांव फैलाये हैं यह दिए जा रहे आंकड़ों से समझ लें।


दुनिया में कोरोना के रोगी की संख्या कैसे बढ़ी...  न्यूयार्क पहला सप्ताह - 2 दूसरा सप्ताह - 105 तीसरा सप्ताह - 613  फ्रांस पहला सप्ताह - 12 दूसरा सप्ताह - 191 तीसरा सप्ताह - 653 चौथा सप्ताह - 4499  ईरान पहला सप्ताह - 2 दूसरा सप्ताह - 43 तीसरा सप्ताह - 245 चौथा सप्ताह - 4747 पांचवां सप्ताह - 12729  इटली पहला सप्ताह - 3 दूसरा सप्ताह - 152 तीसरा सप्ताह - 1036 चौथा सप्ताह - 6362 पांचवां सप्ताह - 21157  स्पेन पहला सप्ताह - 8 दूसरा सप्ताह - 674 चौथा सप्ताह - 6043  भारत पहला सप्ताह - 3 दूसरा सप्ताह - 24 तीसरा सप्ताह - 105  साफ है अगले दो हफ्ते भारत के लिए निर्णायक हैं। दो हफ्ते ज्यादा से ज्यादा घर के अंदर रहें और विशेषज्ञों द्वारा बताई जा रही अन्य सावधानियां वरतें। हमें इस महामारी के तीसरे चरण में पहुंचने से बचना है जिसमें वायरस सामाजिक संपर्क और भीड़-भाड़ से बड़े स्तर पर फैलता है। इसलिए अनेक कार्यक्रमों और लोगों के इकठ्ठे होने पर रोक लगाई गई है। भारत एक बड़ी आबादी वाला देश है। यहां रोग का फैलाव तीसरे और चौथे चरण में कहीं ज्यादा विकराल होगा। इससे बचने के लिए प्रत्येक नागरिक को अपना योगदान देना होगा। 


0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post