Bhopal Breaking  युवक कांग्रेस में संगठन चुनाव को लेकर घमासान , कृष्ण घाडगे बोले में देखता हूँ कैसे होंगे साक्षात्कार

भोपाल। कांग्रेस पार्टी में अध्यक्ष पद के लिए  प्रदेश पदाधिकारियों द्वारा साक्षात्कार  लरए जाने के बाद ही पदों पर नियुक्ति किये जाने  की तैयारी पार्टी संगठन ने की है।  जिसके विरोध में सिंधिया समर्थक ने अपनी ही पार्टी के खिलाफ मोर्चा काजोल दिया है।  मध्यप्रदेश में  कांग्रेस की सरकार बनने के बाद से ही प्रदेश अध्यक्ष के लिए दावेदारी को लेकर विवाद की स्थिति बनी हुई है। जिसके चलते राष्ट्रीय नेतृत्व अभी तक कोई ठोस निर्णय नहीं ले पाया है। वहीं मुख्यमंत्री कमल नाथ ने प्रदेश अध्यक्ष के पद से अभी तक इस्तीफा नहीं दिया है। वहीं संगठन अपने  कार्यकर्ताओं की पद को लेकर काफी समय से पसोपेश मरण था। जिसका तोड़ उन्होंने साक्षात्कार के बाद ही पद देने की तैयारी कर ली। लेकिन अब यही तैयारी पार्टी के संगठन को गले की फांस बनती जा रही है। जिसका ताजा उदाहरण भोपाल के सिंधिया समर्थक कृष्णा घाडगे के रूप मदन सामने आया है। घाडगे ने तो यहां तक कह दिया कि कैसे होता साक्षात्कार  हम नहीं देंगे। उन्होंने कहा कि हम 15 वर्षों से जमीनी स्तर पर कार्य कर रहे थे तब कहाँ गया था दिल्ली का संगठन। हमने जमीनी स्तर पर पार्टी के हित में लड़ाई लड़ी है तब कहीं जाकर आज पार्टी मजबूती के साथ खड़ी है। 15 सालों में कोई नहीं आया , अब हमे अपने अधिकार के लिए उन लोगों को साक्षात्कार देना पड़ेगा जिन्हें हम जानते तक नहीं हैं और नही उनका कोई जनता के बीच पहचान है। सिंधिया समर्थक कृष्णा घाडगे ने कांग्रेस पार्टी को दी चेतावनी 15 सालों तक सड़कों पर किया है संघर्ष तब कहां थे दिल्ली के कांग्रेस के नेता। कृष्णा घाडगे ने  अपनीं पार्टी को चैलेंज देते हुए कहा देखता हूं कैसे होते हैं संगठन में इंटरव्यू। क्या प्राइवेट कंपनी समझ रखा है। संगठन को अगर इंटरव्यू लेना ही है तो विधायक और सांसदों का इंटरव्यू ले। हम कोई इंटरव्यू नहीं देंगे और ना ऐसा कोई इंटरव्यू होने देंगे। राष्ट्रीय नेतृत्व को पत्र लिखने से कुछ नहीं होता है। मैं प्रदेश अध्यक्ष पद का दावेदार हूं। जब हमने विधायक पार्षद सांसद के लिए टिकट मांगा था तब कहां थे इंटरव्यू लेने वाले। अब आ गए झोला लेकर इंटरव्यू लेने राजनीति में कब से इंटरव्यू होने लगे।


0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post