भारी मात्रा में डंप है चोरी का कोयला, जिम्मेदार मौन

सिंगरौली। सिंगरौली जिले के गोरबी व महदेईया के साइडिंग में भारी मात्रा में कोयला पड़ा हुआ है जिसका कोई रिकार्ड नहीं है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार  एनसीएल से अवैध रूप से निकाला गया कोयला गोरबी साइडिंग पर डंप है जिसकी कोल माफियाओं द्वारा तस्करी की जा रही है।  जिले में जिस तरह से कोयले का कारोबार कंपनियां कर रही हैं उसी के नाम पर गोरबी और महदेइया के साइडिंग पर भारी मात्रा में अवैध कोयले की खेप होने की सूत्रों के हवाले से खबर आयी है। इससे जुड़े हुये ट्रांसपोर्टरों के एक सूत्र ने बताया कि महदेइया एवं गोरबी साइडिंग में पड़े कोयले का कोई रिकार्ड नहीं है। इसकी जानकारी जांच के बाद ही पता लगायी जा सकती है ।  मोरवा, गोरबी, जयंत, निगाही आदि क्षेत्रों में कोयले की चोरी की भी खबरें आती रही हैं महदेइया एवं गोरबी की साइडिंग में पड़े कोयले की यदि जांच करायी जाये तो बड़े बड़े अधिकारी व माफिया तौले जायेंगे। लेकिन यहां के जिम्मेदार प्रशासन व एनसीएल के आला अधिकारी अपनी काली करतूत छिपाने के लिए चुप्पी साधे हैं। 


भारी मात्रा में खुले में पड़ा है कोयला


सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार महदेइया तथा गोरबी साइडिंग पर हजारों टन कोयला खुला पड़ा है जिसका रिकार्ड किसी के पास नहीं है। सूत्र तो यहां तक बताते हैं कि उक्त कोयला चोरी का है जिसे एक नंबर में करके कुछ ठेकेदारों द्वारा उसकी तस्करी की जाती है तथा उस कोयले को नामी गिरामी कंपनियों में बेचा जाता है। 


*कोयले की दलाली में बड़े-बड़ों के हाथ काले


गोरबी तथा महदेइया, मोरवा आदि इलाकों में कोयले की तस्करी ब्यापक पैमाने पर चल रही है। दिखाने को तो सारा काम एक नंबर में हो रहा है लेकिन हकीकत इससे परे है जहां बिना रिकार्ड का कोयला बड़ी-बड़ी कंपनियों को आपूर्ति की जाती है। इसमें एनसीएल के आला अधिकारियों सहित बड़े-बड़े ठेकेदार तथा पुलिस के लोग भी शामिल हैं।


 


 


साभार  विराट वसुन्धरा


0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post