नि:शक्तजन एडवोकेसी की बैठक सम्पन्न, यूआईडी के आधार पर मिलेगा लाभ

भोपाल । नि:शक्तजन कल्याण के कार्यों की प्रगति की समीक्षा करते हुए तय किया गया है कि जिले के समस्त नि:शक्तजनों का यूआईडी बनाया जाएगा और शासन की सभी योजना तथा कार्यक्रमों का लाभ इसी आधार पर दिया जायेगा । आयुक्त नि:शक्तजन कल्याण विभाग संदीप रजक की अध्यक्षता में एडवोकेसी की बैठक कलेक्टर कार्यालय के सभाकक्ष में सम्पन्न हुई। जिसमें मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत सतीश कुमार एस सहित संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे । बैठक में नि:शक्तजन कल्याण विभाग द्वारा संचालित योजनाएं जैसे स्वरोजगार उपलब्ध कराना, दिव्यांगजनों को कौशल विकास प्रशिक्षण, नि:शक्त छात्रवृत्ति वितरण, कृत्रिम अंग/सहायक उपकरण एवं पेंशन वितरण सहित सभी कार्यों की प्रगति की समीक्षा की गई। बैठक में आयुक्त श्री रज?क ने निर्देश दिए कि सभी नि:शक्तजनों का

यूनिक डिजेबिलिटी आईडेंटिटी कार्ड बनाया जाना सुनिश्चित करें, भविष्य में

शासन की सामाजिक कल्याण विभाग की सभी योजनाओं का लाभ यूडीआईडी के माध्यम से दिया जायेगा । उन्होंने कहा कि दिव्यांगजनों को उपयोगी मोपेड वाहन का अधिकतम लाभ दिलाने के लिए मिशन मोड पर कार्य करें, सूची बनाए और अनुमोदन प्राप्त करके उन्हें वाहन लाभ देना सुनिश्चित करें । बैठक में बताया गया कि भोपाल संभाग में 4 ब्लॉक में कुल 1693 दिव्याग विद्यार्थी अध्ययनरत है । मध्यप्रदेश शासन दिव्यांग विद्यार्थियों को 1900 रूपये की सहायता प्रोत्साहन राशि का भुगतान करती है । श्री रजक ने कहा कि प्रत्येक संबंधित विभाग सभी दिव्यांग बच्चों को उनकी स्थिति अनुसार अधिक से अधिक राशि का लाभ दिलाये जाने हेतु प्रयासरत हों । उन्होंने आपस में सामंजस्य बनाकर एक दूसरे को सहयोग देकर लक्ष्य की प्राप्ति करने की जरूरत बताई । उन्होंने निर्देश दिए कि भोपाल संभाग में बालिका छात्रावास के निर्माण का इंतजार नहीं करें । भोपाल में ही स्थित

किसी उचित भवन को किराये पर लें और अगले सत्र से इसे शुरू करें । दिव्यांगजन अधिकार अधिनियम के अनुसार पुराने भवनों में रैम्प की उपलब्धता की जांच करें एवं सभी भवनों में रैम्प बनवाएं । आशिमा मॉल के सामने एन्ट्री वाली सीढिय़ों में रैम्प की व्यवस्था नहीं है । उन्होंने मॉल के संचालक को निर्देशित किया गया की रैम्प की व्यवस्था कराएं ।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post